Urdu Alphabets In Hindi

Urdu Alphabets In Hindi

Urdu Alphabets In Hindi

Urdu Alphabets In Hindi – जिस प्रकार हिंदी या अंग्रेज़ी भाषा की अपनी-अपनी एक वर्णमाला होती है, उसी प्रकार उर्दू भाषा की भी एक वर्णमाला होती है। उर्दू में अक्षर को हरफ़ कहते हैं, अर्थात उर्दू ज़बान की सबसे छोटी इकाई को हरफ़ कहते हैं। हरफ़ का बहुवचन हरूफ़ कहलाता है। उर्दू ज़बान में ‘शब्द’ को ‘लफ़्ज़’ कहते हैं, जिसका बहुवचन ‘अल्फ़ाज़'(الفاظ) कहलाता है।

उर्दू वर्णमाला को दो भागों में बांटा जा सकता है। पहले भाग में उर्दू के 39 अक्षरों को रखा गया है। हिंदी के भारी आवाज़ वाले अक्षर, अर्थात उर्दू के संयुक्त अक्षरों को दूसरे भाग में रखा गया है, जिनकी संख्या 12 होती है।

इस तरह, उर्दू में कुल 51 अक्षर होते हैं।

उर्दू के 39 हरूफ़

हिंदी में आवाज़हरफ़ का नामउर्दू हरूफ़क्र.
अलिफ़ ا1
बे ب2
पे پ3
ते ت4
टे ٹ5
से ث6
जीम ج7
चे چ8
हे ح9
खे خ10
दाल د11
डाल ڈ12
ज़ाल ذ13
रे ر14
ड़े ڑ15
ज़े ز16
झे झे ژ17
सीन س18
शीन ش19
स्वाद/साद ص20
ज़वाद/ज़ाद ض21
तोए ط22
ज़ोए ظ23
ऐन ع24
गेन غ25
फ़े ف26
क़ाफ़ ق27
काफ़ ک28
गाफ़ گ29
लाम ل30
मीम م31
नून ن32
वाव و33
हे हे ہ34
हे दो चश्मी हे ھ35
छोटी ये ی36
बड़ी ये ے37
हम्ज़ा ء38
नून गुना ں39

lesson 02

उर्दू के संयुक्त अक्षर

उर्दू ज़बान में हिंदी के भारी आवाज़ वाले अक्षर नहीं होते हैं, अर्थात हिंदी वर्णमाला के कुछ अक्षर ऐसे होते है जिनके लिए उर्दू में अलग से कोई अक्षर नहीं होता है. इन सभी अक्षरों को उर्दू में लिखने के लिए उर्दू के दो-दो अक्षरों को मिलाकर उर्दू के संयुक्त अक्षर बनाये जाते हैं।

हिंदी उच्चारणबनने वाला नया अक्षर दूसरा उर्दू अक्षर पहला उर्दू अक्षर क्र.
بھ ھ ( दो चश्मी हे ) ب (बे)1
پھ ھ ( दो चश्मी हे ) پ (पे)2
تھ ھ ( दो चश्मी हे ) ت (ते)3
ٹھ ھ ( दो चश्मी हे ) ٹ (टे)4
جھ ھ ( दो चश्मी हे ) ج (जीम)5
چھ ھ ( दो चश्मी हे ) چ (चे)6
دھ ھ ( दो चश्मी हे ) د (दाल)7
ڈھ ھ ( दो चश्मी हे ) ڈ (डाल)8
ڈھ ھ ( दो चश्मी हे ) ڈ (डाल) 9
کھ ھ ( दो चश्मी हे ) ک (काफ़)10
گھ ھ ( दो चश्मी हे ) گ (गाफ़)11
रह رھ ھ ( दो चश्मी हे ) ر (रे)12

उर्दू में गिनती कैसे लिखें

इंग्लिश गिनती हिंदी गिनती उर्दू गिनती
0۰
1۱
2۲
3۳
4۴
5۵
6۶
7۷
8۸
9۹

उर्दू के बारे में विशेष बातें

  • उर्दू शब्द तूर्की भाषा का शब्द है, जिसका अर्थ ‘लश्कर’ या ‘शाही-शिविर’ होता है।
  • हिंदी से विपरीत, उर्दू दाईं तरफ़ से बाईं तरफ़ पढ़ी और लिखी जाती है।
  • उर्दू ज़बान अरबी एवं फ़ारसी का मिला-जुला रूप है।
  • उर्दू लिखते समय शब्द पर लगी हुई मात्राओं को नहीं लिखा जाता, लेकिन उन्हें पढ़ा जाता है।
  • उर्दू लिखते समय प्रत्येक अक्षर की शक्ल उसके शब्द में प्रयोग के आधार पर बदल जाती है। किसी शब्द के प्रारंभ में, मध्य में तथा अंत में प्रयोग के आधार पर अक्षर की शक्ल बदल जाती है।

learn Urdu Online के इस पहले अध्याय में हमने Urdu Alphabets In Hindi सीखे। यदि आप उर्दू से सम्बंधित कुछ भी पूछना चाहते हैं तो बे-जिझक सवाल कर सकते हैं. हमारे उर्दू के विशेषज्ञ जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब देंगे।

शुक्रिया.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *