महात्मा गांधी के कितने बेटे थे – Gandhi Ji Ke Beta Ka Naam

Gandhi ji ke bete

इस लेख का उद्देश्य, महात्मा गाँधी जी के व्यक्तिगत जीवन के बारे में आपकी जानकारी बेहतर करना है। गाँधी जी के कितने बच्चे थे और कितनी बेटिया थी, इस सम्बन्ध में जानकारी को इकठ्ठा किया गया है। उनके चारो बेटो के जीवन पर थोड़ा सा प्रकाश डालने की कोशिश की गयी है।

महात्मा गांधी के कितने बेटे थे

महात्मा गांधी के चार बेटे थे। हरिलाल गांधी, मणिलाल गांधी, रामदास गांधी और देवदास गांधी। गांधी जी जब 15 वर्ष के थे तब उनको पहली संतान हुई थी, लेकिन पहली संतान की कुछ दिन पश्चात मृत्यु हो गई थी। इसके बाद उनके सबसे बड़े बेटे हरिलाल का जन्म 1888 में हुआ था। मणिलाल गांधी का जन्म 1892 में हुआ, रामदास गांधी का जन्म 1897 में और देवदास गांधी का जन्म 1900 में हुआ था।

Harilal Gandhi23 August 1888 – 18 June 1948
Manilal Gandhi28 October 1892 – 5 April 1956
Ramdas Gandhi2 January 1897 – 14 April 1969
Devdas Gandhi22 May 1900 – 3 August 1957

गांधी जी के बड़े बेटे का नाम क्या था?

mahatma gandhi ke bade bete Harilal Gandhi
Harilal Mohandas Gandhi

मोहनदास करमचंद गांधी जी के सबसे बड़े बेटे का नाम हरिलाल मोहनदास गांधी था। इनका जन्म 23 August 1888 को हुआ था। हरिलाल लंदन जाकर वकालत पढ़ना चाहते थे, वे अपने पिता की तरह बेरिस्टर बनना चाहते थे। लेकिन पढाई में उनके ख़राब प्रदर्शन से ये हो न सका। गाँधी जी भी हरिलाल के बेरिस्टर बनने के खिलाफ थे। गाँधी जी का मानना था की western पढाई से अंग्रेजो से लड़ने में कोई लाभ नहीं होगा। इसी वजह से गाँधी जी और हरिलाल के रिश्ते अच्छे नहीं थे।

पत्नी और अपने दो बच्चो की मृत्यु के बाद वो जीवन से हताश हो गए थे, इसी वजह से उन्हें शराब की आदत लग गयी थी। हरिलाल एक बार को मुसलमान हो गए थे, उन्होंने अपना नाम हरिलाल से बदलकर अब्दुल्ला रख लिया था, बाद में आर्य समाज और उनकी माता जी के प्रयत्नों से वे हिंदू हो गए थे। हरिलाल को शराब की बहुत बुरी लत लग गई थी। उनकी मृत्यु का कारण भी शराब सेवन ही बताया जाता है। अत्यधिक शराब से उनके लिवर ख़राब हो गए थे, बापू की मृत्यु के 4 महीने पश्चात 18 जून 1948 को हरिलाल गांधी की मृत्यु हो गई थी।

हरिलाल मोहनदास गाँधी का परिवार

गुलाब गाँधीपत्नी
रानी पुत्री
मनु पुत्री
कांतिलालपुत्र
रसिकलाल पुत्र
शांतिलालपुत्र

मणिलाल मोहनदास गाँधी

महात्मा गाँधी के बेटे मणिलाल गाँधी

मणिलाल गांधी जी के दूसरे बेटे थे, इनका जन्म 28 अक्टूबर 18 सो 92 में हुआ था मणिलाल गांधी जी द्वारा साउथ अफ्रीका में शुरू किए गए अखबार इंडियन ओपिनियन में संपादक थे। इनकी पत्नी का नाम सुशीला था, इनके तीन बच्चे थे।

अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला ने मणिलाल की तारीफ करते हुए एक बार कहा था कि “मणिलाल का सभ्य आचार अहिंसा का अवतार है”। मणिलाल अपने जीवन में कई बार जेल गए लेकिन गांधीजी के सभी आंदोलनों में उनकी भागीदारी हमेशा रही। गांधी जी द्वारा चलाए गए दांडी मार्च में मणिलाल 10 महीने के लिए जेल भी गए। वे साउथ अफ्रीका के इंडियन ओपिनियन अखबार में भी कई सालों तक बतौर एडिटर रहे और इसके लिए उन्हें कोई तनख्वाह भी नहीं मिलती थी। 1956 में उनकी मृत्यु के समय उनके नाम पर कोई संपत्ति नहीं थी। वह भारत के ही नहीं साउथ अफ्रीका के भी आंदोलनकारी थे, मणिलाल गांधी जीवन भर Human Rights के लिए लड़ते रहे।

मणिलाल गाँधी का परिवार

सुशीला मशरूवालापत्नी
सीता बेटी
इला बेटी
अरुण बेटा

रामदास मोहनदास गाँधी

महात्मा गाँधी जी के बेटे रामदास गाँधी

महात्मा गांधी और कस्तूरबा बाई गांधी के तीसरे बेटे का नाम रामदास गांधी था। इनका जन्म 1897 में हुआ था, यह साउथ अफ्रीका में जन्मे थे। गांधी जी द्वारा चलाए जा रहे आंदोलन “भारत स्वतंत्रता आंदोलन” में ये सम्मिलित रहे और कई बार कारावास भी गए। गाँधी जी के पार्थिव शरीर को मुखाग्नि भी रामदास द्वारा ही दी गयी थी। उनकी पत्नी का नाम निर्मला था, उनके तीन बच्चे थे ,1969 में इनकी मृत्यु 72 वर्ष की आयु में हुई।

रामदास गाँधी का परिवार

निर्मलापत्नी
सुमित्रा बेटी
ऊषाबेटी
कानू बेटा

देवदास मोहनदास गाँधी

महात्मा गाँधी के बेटे देवदास गाँधी

महात्मा गांधी और कस्तूरबा बाई गांधी के सबसे छोटे बेटे का नाम देवदास गांधी था। इनका जन्म 1900 में हुआ था। व्यवसायिक तौर पर यह एक पत्रकार थे और कई वर्षों तक भारत के छपने वाले अंग्रेजी अखबार Hindustan Times के संपादक भी रहे। देवदास “दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा” के पहले प्रचारक थे। इस प्रचार सभा का उद्देश्य दक्षिण भारत में हिंदी भाषा का प्रचार करना था। अपने पिता के चलाये काफी आंदोलनों में ये भागीदार रहे। इन्होंने चक्रवर्ती राजगोपालाचारी जी की बेटी लक्ष्मी से प्रेम विवाह किया था और उनके चार बच्चे थे।

देवदास गाँधी का परिवार

लक्ष्मीपत्नी
ताराबेटी
राजमोहनबेटा
गोपाल कृष्णबेटा
रामचंद्र बेटा

आशा है आपको महात्मा गाँधी जी के बच्चो सम्बंधित ये जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। अगर आप इस लेख में कुछ सुधार करना चाहते है तो आप हमे contact कर सकते है।

Scroll to Top