Vakyansh Ke Liye Ek Shabd (वाक्यांश के लिए एक शब्द)

Vakyansh Ke Liye Ek Shabd

Vakyansh ke liye ek shabd से सम्बंधित सवाल प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते हैं। इसीलिए, आज के इस लेख में हम आपको Vakyansh ke liye ek shabd के बारे में बता रहे हैं। यहाँ इस लेख में हम 400 से भी अधिक वाक्यांश के लिए एक शब्दों के बारे में बता रहे हैं।

Vakyansh ke liye ek shabd, मुहावरे तथा लोकोक्तियां किसी भी भाषा को समृद्ध और प्रभावशाली बनाने के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। संस्कृत भाषा इस दृष्टि से बहुत समृद्ध है। हिंदी के अधिकांश Vakyansh ke liye ek shabd संस्कृत भाषा से ही आए हैं लेकिन समय के साथ बहुत से Vakyansh ke liye ek shabd हिंदी भाषा ने स्वयं भी विकसित किए हैं। इससे पहले की आप Vakyansh ke liye ek shabd के बारे में जाने, हम आपको वाक्यांश के बारे में बता रहे हैं.

वाक्यांश की परिभाषा?

वाक्यांश की परिभाषा – शब्द समूह का वह सार्थक रूप जिससे एक विचार की स्पष्ट एवं पूर्ण अभिव्यक्ति होती हो, उसे वाक्यांश कहते हैं। वाक्यांश का अर्थ वाक्य का अंश होता है.

वाक्यांश के उदाहरण 

  • घर का घर
  • सच बोलना
  • दूर से आया हुआ
  • काम करना
  • सवेरे जल्दी उठना
  • नदी के किनारे

वाक्य और वाक्यांश में अंतर?

वाक्य और वाक्यांश में अर्थ के आधार पर तथा रूप के आधार पर बहुत अंतर होता है। यहाँ हम वाक्य और वाक्यांश में अंतर बता रहे हैं।

वाक्य वाक्यांश
शब्द समूह का वह सार्थक रूप जिससे एक विचार की स्पष्ट एवं पूर्ण अभिव्यक्ति होती हो, उसे वाक्य कहते हैं।शब्द समूह का वह सार्थक रूप जिससे एक विचार की स्पष्ट एवं पूर्ण अभिव्यक्ति होती हो, उसे वाक्यांश कहते हैं।
वाक्य शब्दों का सार्थक समूह होता है।वाक्यांश शब्दों का समूह होता है।
वाक्य एक पूर्ण विचार को व्यक्त करता है।वाक्यांश एक या एक से अधिक भावनाओं को व्यक्त करता है।
वाक्य में क्रिया होती है।
वाक्यांश में क्रिया नहीं होती बल्कि ज़्यादातर वाक्यांश कृदन्त या सम्बन्धबोधक अव्यय होते हैं।
वाक्य और वाक्यांश में अंतर?

वाक्यांश के लिए एक शब्द किसे कहते हैं?

जब किसी वाक्य में प्रयुक्त या स्वतन्त्र किसी वाक्यांश के लिए किसी एक शब्द का प्रयोग किया जाता है, जो उस वाक्यांश के अर्थ को पूरी तरह सिद्ध करता हो तो उसे Vakyansh ke liye ek shabd कहते हैं, अर्थात अनेक शब्दों के लिए एक शब्द को प्रयुक्त करना ही Vakyansh ke liye ek shabd कहलाता है.


400 se adhik vakyansh ke liye ek shabd

Vakyansh ke liye ek shabd के उदाहरण

  1. विधायिका द्वारा स्वीकृत नियम – अधिनियम
  2. सर्वाधिक अधिकार प्राप्त शासक अधिनायक
  3. वह स्त्री जिसके पति ने दूसरा विवाह कर लिया हो – अध्यूढ़ा
  4. पहाड़ के ऊपर की सपाट जमीन – अधित्यका
  5. जिसे अधिकार में ले लिया गया हो – अधिकृत
  6. वास्तविक मूल्य से अधिक लिया जाने वाला मूल्य – अधिशुल्क
  7. धर्म के विरुद्ध कार्य – अधर्म
  8. जिसका कोई आरंभ ना हो – अनादि
  9. एक भाषा के विचारों को दूसरी भाषा में व्यक्त करना – अनुवाद
  10. किसी संप्रदाय या सिद्धांत का समर्थन करने वाला – अनुयायी
  11. किसी प्रस्ताव का समर्थन करने की क्रिया – अनुमोदन
  12. जिसका अनुभव किया गया हो – अनुभूत
  13. जो परीक्षा में उत्तीर्ण नहीं हुआ हो – अनुत्तीर्ण
  14. किसी एक में ही आस्था रखने वाला – अनन्य
  15. जिसका कोई घर नहीं हो – अनिकेत
  16. जिसके माता-पिता नहीं हो – अनाथ
  17. जिस भाई ने बाद में जन्म लिया हो – अनुज
  18. जिसकी उपमा नहीं दी जा सके – अनुपम
  19. जिसका जन्म निम्न वर्ण में हुआ हो – अन्त्यज
  20. वह विद्यार्थी जो आचार्य के पास ही निवास करता हो – अंतेवासी
  21. मूल कथा में आने वाला प्रसंग – अन्तर्कथा
  22. जिसका निवारण नहीं किया जा सके – अनिवार्य
  23. परंपरा से चली आ रही कथा – अनुश्रुति
  24. जिसका कोई दूसरा उपाय नहीं हो – अनन्योपाय
  25. जिसका भाषा द्वारा वर्णन नहीं किया जा सके – अवर्णनीय
  26. जो नियम के अनुसार नहीं हो – अनियमित
  27. जिसका विरोध नहीं हुआ हो – अनिरुद्ध
  28. जिसके विषय में कोई ज्ञान नहीं हो – अज्ञात
  29. वह भाई जो अन्य माता से उत्पन्न हुआ हो – अन्योदर
  30. जो नियंत्रण में नहीं हो – अनियंत्रित
  31. पलक को झपकाए बिना – अनिमेष
  32. जो दोहराया गया नहीं हो – अनावृत्त
  33. जिसका किसी में लगाओ या प्रेम हो – अनुरक्त
  34. जो बात पहले सुनी ही नहीं गई हो – अनसुनी
  35. जिस महिला का विवाह नहीं हुआ हो – अनूढ़ा
  36. जो अनुग्रह से युक्त हो – अनुगृहीत
  37. जिस पर आक्रमण नहीं किया गया हो – अनाक्रान्त
  38. जिसका उत्तर नहीं दिया गया हो – अनुत्तरित
  39. पहले लिखे गए पत्र का स्मरण करते हुए लिखा गया पत्र – अनुस्मारक
  40. पीछे-पीछे चलने वाला – अनुगामी
  41. अनुकरण करने योग्य – अनुकरणीय
  42. अनुसरण करने योग्य – अनुसरणीय
  43. वह सिद्धांत जो हर वस्तु को नश्वर मानता हो – अनित्यवादी
  44. जो कभी नहीं आया हो – अनागत
  45. जो श्रेष्ठ गुणों से युक्त नहीं हो – अनार्य
  46. जो सबके मन की बात जानता हो – अन्तर्यामी
  47. जिसे किसी बात का पता नहीं हो – अनभिज्ञ
  48. जो बिना सोचे समझे विश्वास करें – अन्धविश्वासी
  49. जो बिना सोचे समझे अनुगमन करें – अन्धानुगामी
  50. जिसकी अपेक्षा नहीं हो – अपेक्षित

यह भी पढ़ें: क्रिया किसे कहते हैं – परिभाषा, भेद एवं उदाहरण


  1. जिसकी आवश्यकता नहीं हो – अनावश्यक
  2. जिस का आदर नहीं किया गया हो – अनादृत
  3. जो पूर्ण नहीं हो – अपूर्ण
  4. जो मापा नहीं जा सके – अपरिमेय
  5. जो पहले पढ़ा नहीं गया हो – अपठित
  6. नीचे की ओर लाना या खींचना – अपकर्ष
  7. जो धन को व्यर्थ ही खर्च करता हो – अपव्ययी
  8. जो सामने नहीं हो – परोक्ष
  9. जो पहले कभी नहीं हुआ हो – अपूर्व
  10. जिसका विवाह नहीं हुआ हो – अविवाहित
  11. जो पीने योग्य नहीं हो – अपेय
  12. जिसका कोई पार नहीं हो – अपार
  13. जिसका त्याग नहीं हो सके – अत्याज्य
  14. जिसके आर पार नहीं देखा जा सके – अपारदर्शी
  15. वह समय जो दोपहर के बाद आता है – अपराहन
  16. जिस वस्तु को पहना नहीं गया हो – अप्रहत
  17. जिस खेत को जोता नहीं गया हो – अप्रहत
  18. जिसकी आशा नहीं की गई हो – अप्रत्याशित
  19. किसी काम को बाहर बाहर करने का अनुभव रखने वाला – अभ्यस्त
  20. किसी वस्तु को प्राप्त करने की तीव्र इच्छा – अभीप्सा
  21. जिस पर अभियोग लगाया गया हो – अभियुक्त
  22. जिसको पैदा नहीं जा सके – अभेद्य
  23. जो पहले नहीं हुआ हो – अभूतपूर्व
  24. जिसकी मृत्यु नहीं होती हो – अमर
  25. जिस वस्तु का मूल्य नहीं आंका जा सके – अमूल्य
  26. जो बिना मांगे मिल जाए – अयाचित
  27. जिसकी कोई रक्षा नहीं कर रहा हो – अरक्षित
  28. जो साहित्य कला आदि में रस नहीं लेता हो – अरसिक
  29. जिसको प्राप्त नहीं किया जा सके – अलभ्य
  30. जिसको देखा नहीं जा सके – अलक्ष्य
  31. जिसको लाँघा नहीं जा सके – अलघ्य
  32. जो कम जानता हो – अल्पज्ञ
  33. जो कम बोलता हो – अल्पभाषी
  34. जो इस लोक का नहीं हो – अलौकिक
  35. जो वध करने योग्य नहीं हो – अवध्य
  36. आदेश की अवहेलना – अवज्ञा
  37. जो भला बुरा नहीं समझता हो – अविवेकी
  38. जिसका विभाजन नहीं किया जा सके – अविभाज्य
  39. जिसका विभाजन नहीं किया गया हो – अविभक्त
  40. जिस पर विचार नहीं किया गया हो – अविचारित
  41. जो बिना वेतन के काम करता हो – अवैतनिक
  42. जो कार्य अवश्य होने वाला हो – अवश्यम्भावी
  43. जिसको व्यवहार में नहीं लाया गया हो – अव्यवहृत
  44. जिसका विश्वास नहीं किया जा सके – अविश्वसनीय
  45. जो विधान के अनुसार नहीं हो – अवैधानिक
  46. नहीं हो सकने वाला – अशक्य
  47. जो शोक करने योग्य नहीं हो – अशोक्य
  48. जो कहने सुनने देखने में घिनौना हो – अश्लील
  49. फेंककर चलाया जाने वाला हथियार – अस्त्र
  50. जिसको सहन नहीं किया जा सके – असह्य

यह भी पढ़ें:-


  1. जो सहनशील नहीं हो – असहिष्णु
  2. जो सामान नहीं हो – असमान
  3. जो साधा नहीं जा सके – असाध्य
  4. जिस रोग का इलाज नहीं किया जा सके – लाइलाज
  5. किसी बात पर बार-बार जोर देना – आग्रह
  6. वह स्त्री जिसका पति प्रदेश से लौटा हो – आगतपतिका
  7. जो जन्म लेते ही गिर या मर गया हो – आजन्मपात
  8. मृत्यु पर्यंत – आमरण
  9. जो गुण दोष का विवेचन करता हो – आलोचक
  10. जो ईश्वर में विश्वास रखता हो – आस्तिक
  11. वह कवि जो तत्काल कविता कर सके – आशुकवि
  12. जिसे आश्वासन पर विश्वास हो – आश्वस्त
  13. विदेश से देश में सामान मंगवाना – आयात
  14. सिर से पांव तक – आपादमस्तक
  15. प्रारंभ से लेकर अंत तक – आधोपान्त
  16. अपने आप को खुद ही समाप्त कर लेने वाला – आत्मघाती
  17. पवित्र आचरण करने वाला – आचारपूत
  18. दूसरे के हित में अपना जीवन त्याग कर देना – आत्मोत्सर्ग 
  19. जो बहुत क्रूर व्यवहार करता हो – आततायी
  20. जिसका संबंध आत्मा से हो – आध्यात्मिक
  21. जिस पर हमला किया गया हो – आक्रान्त
  22. जिस ने हमला किया हो – आक्रान्ता
  23. जिसे सूँघा जा सके – आघ्रेय
  24. किसी स्थान के सर्वाधिक पुराने निवासी – आदिवासी
  25. वह चीज जिसकी चाहत हो – इच्छित
  26. इस लोक से संबंधित – इहलौकिक
  27. जो इंद्र पर विजय प्राप्त कर चुका हो – इन्द्रजीत
  28. जो इन्द्रियों से परे हो – इन्द्रियातीत
  29. उत्तर और पूर्व के बीच की दिशा – ईशान
  30. जो दूसरे की उन्नति देखकर जलता हो – ईर्ष्यालु
  31. वह पर्वत जहां से सूर्य और चंद्रमा उदित होते माने जाते हैं – उदयाचल
  32. पर्वत के नीचे तलहटी की भूमि – उपत्यका
  33. किसी के संबंध में कुछ लिखने योग्य – उल्लेखनीय
  34. जिसके ऊपर किसी का उपकार हो – उपकृत
  35. ऐसी जमीन जो अच्छी उत्पादक हो – उर्वरा
  36. जो छाती के बल चलता हो – उरग
  37. जिसने अपना ऋण पूरा चुका दिया हो – उऋण
  38. जिसका ऊपर कथन किया गया हो – उपर्युक्त
  39. जिसका मन जगत से उचट गया हो – उदासीन
  40. भोजन करने के बाद बचा हुआ अन्न – उच्छिष्ट
  41. जिस भूमि में कुछ भी पैदा नहीं होता हो – ऊसर
  42. विचारों का ऐसा प्रवाह जिससे कोई निष्कर्ष नहीं निकले – ऊहापोह
  43. जो केवल एक आंख वाला हो – एकाक्ष
  44. जो इन्द्रियों से संबंधित हो – ऐन्द्रिय
  45. सांसारिक वस्तुओं को प्राप्त करने की इच्छा – एषणा
  46. जिस पर किसी एक का ही अधिकार हो – एकाधिकार
  47. वह स्थिति जो अंतिम निर्णायक हो – एकान्तिक
  48. कई जगह से मिलकर इकट्ठा किया गया हो – एकीकृत
  49. जो व्यक्ति की इच्छा पर निर्भर करता हो – ऐच्छिक
  50. इन्द्रियों को भ्रमित करने वाला – ऐन्द्रजालिक

यह भी पढ़ें : कारक किसे कहते हैं – परिभाषा एवं कारक चिह्न 


  1. जो इस लोक से संबंधित हो – ऐहिक
  2. सांप-बिच्छू के जहर या भूत प्रेत के भय को मंत्रों से झड़ने वाला – ओझा
  3. जो उपनिषदों से संबंधित हो – औपनिषदिक
  4. जो मात्र शिष्टाचार व्यवहार के लिए हो – औपचारिक
  5. दो व्यक्तियों की परस्पर होने वाली बातचीत – कथोपकथन
  6. ऐसी लड़की जिसका विवाह नहीं हुआ हो – कुमारी
  7. कर्म करने में तत्पर व्यक्ति – कर्मठ
  8. बर्तन बेचने वाला – कसेरा
  9. जो काम से जी चुराता है – कमचोर
  10. सबसे आगे रहने वाला – अग्रणी
  11. जिसका खण्डन नहीं किया जा सके – अखण्डनीय
  12. जो पहले गिना जाता हो – अग्रगण्य
  13. जो पहले जन्मा हो – अग्रज
  14. जिसे जाना न जा सके – अज्ञेय
  15. जिसका पता न हो – अज्ञात
  16. जो इंद्रियों द्वारा ना जाना जा सके – अगोचर
  17. जो बहुत गहरा हो – अगाध
  18. जिसने अभी तक जन्म नहीं लिया हो – अजन्मा
  19. जिसकी गिनती न की जा सके – अगणित
  20. आगे आने वाला – आगामी
  21. जिसको जीता न जा सके – अजेय
  22. जो कभी बूढ़ा न हो – अजर
  23. जिसका कोई शत्रु ना हो – अजातशत्रु
  24. जो खाने योग्य न हो – अखाद्य
  25. जिसका चिंतन नहीं किया जा सके – अचिन्त्य
  26. जो क्षमा नहीं किया जा सके – अक्षम्य
  27. जिसको कहा ना जा सके – अकथनीय
  28. जिसको काटा न जा सके – अकाट्य
  29. नहीं टूटने वाला – अटूट 
  30. अंडे से जन्म लेने वाला – अण्डज
  31. जो अपनी बात से नहीं डिगे – अडिग 
  32. जो छुआ न गया हो – अछूता 
  33. जो छूने योग्य न हो – अछूत 
  34. जो खाली न जाए – अचूक 
  35. जिसके बारे में कोई निश्चिय नहीं हो – अनिश्चित 
  36. जो अपने स्थान से अलग नहीं किया जा सके – अच्युत
  37. जो अपनी बात से टले नहीं – अटल 
  38. पदार्थ का अत्यंत सूक्ष्म भाग – परमाणु 
  39. जिसके आगमन की तिथि निश्चित नहीं हो – अतिथि 
  40. आवश्यकता से अधिक बरसात – अतिवृष्टि 
  41. बरसात बिल्कुल नहीं होना – अनावृष्टि 
  42. बहुत कम बरसात होना – अल्पवृष्टि
  43. इंद्रियों की पहुंच से बाहर – अतीन्द्रिय
  44. सीमा का अनुचित उल्लंघन – अतिक्रमण
  45. जो तर्क से परे हो – तर्कातीत
  46. किसी बात को अत्यधिक बढ़ा कर कहना – अतिशयोक्ति 
  47. जो व्यतीत हो गया हो – अतीत 
  48. जिसको त्यागा न जा सके – अत्याज्य
  49. जिसकी तुलना नहीं की जा सके – अतुलनीय 
  50. जिसकी गहराई का पता न लग सके – अथाह

यह भी पढ़ें : विशेषण किसे कहते हैं


  1. जिसका दमन नहीं किया जा सके – अदम्य
  2. जिसे देखा न जा सके – अदृश्य 
  3. जो पहले नहीं देखा गया हो – अदृष्टपूर्व 
  4. आगे का विचार नहीं कर सकने वाला – अदूरदर्शी 
  5. जो देखने योग्य न हो – अदर्शनीय 
  6. जिसके बराबर दूसरा नहीं हो – अद्वितीय
  7. जो एक निश्चित अवधि तक ही लागू हो – अध्यादेश 
  8. जिस पर किसी ने अधिकार कर लिया हो – अधिकृत 
  9. वह सूचना जो सरकार के प्रयास से जारी हो – अधिसूचना
  10. अपने काम के बारे में कुछ भी निश्चय नहीं करने वाला – किंकर्तव्यविमूढ़
  11. जो बात पूर्व काल से लोगों में कह सुनकर प्रचलित हो – किवदन्ती
  12. बुरे मार्ग पर जाने वाला व्यक्ति – कुमार्गगामी
  13. जो अच्छे कुल में उत्पन्न हुआ हो – कुलीन
  14. जिसकी बुद्धि बहुत तेज हो – कुशाग्र
  15. बुद्धि बुरी संगत में रहने वाला – कुसंगी
  16. अपने लिए किए हुए उपकार को याद रखने वाला – कृतज्ञ
  17. अपने लिए किए हुए उपकार को भुला देने वाला – कृतघ्न
  18. जो पैसों को अत्यधिक कंजूसी से खर्च करता हो – कंजूस
  19. जिसे खरीद लिया गया हो – क्रीत
  20. श्रृंगारिक वासनाओं के प्रति आकर्षित – कामुक
  21. जो दुख या भय से पीड़ित हो – कातर
  22. दूसरे की हत्या करने वाला – हत्यारा
  23. अपनी गलती स्वीकार करने वाला – कायल
  24. ईश्वर का सामूहिक रूप से किया जाने वाला गुणगान – कीर्तन
  25. भूख से पीड़ित – क्षुधार्त
  26. वृक्ष लता फूलों से घिरा हुआ कोई सुंदर स्थान – कुंज
  27. पूर्व में हुई हानि की भरपाई – क्षतिपूर्ति
  28. जिसका अर्थ स्वयं ही सिद्ध है – सिद्धार्थ
  29. पहले से चली आ रही परंपरा का अनुपालन करने वाला – गतानुगतिक
  30. आकाश को स्पर्श करने वाला – गगनचुम्बी
  31. जिस नाटक के संवाद गीतों के रूप में लिखे हो – गीतिनाट्य
  32. गुप्त रूप से घूम कर सूचना देने वाला – गुप्तचर
  33. हर पदार्थ को अपनी ओर आकृष्ट करने वाली गुरुत्व शक्ति – गुरुत्वाकर्षण
  34. जो बोल नहीं सकता हो – गूँगा
  35. ज़िम्मेदारी पूरी नहीं करने वाला – ग़ैर-ज़िम्मेदार
  36. दिन और रात के बीच का समय – गोधूलि वेला
  37. जो ग्रहण करने योग्य हो – ग्राह्म
  38. जो छिपाने योग्य हो – गोपनीय
  39. जहां से गंगा नदी का उद्गम होता है – गंगोत्री
  40. घास खोदकर जीवन निर्वाह करने वाला – घसियारा
  41. शरीर की हानि करने वाला – घातक
  42. जो पदार्थ घूमने योग्य हो – घुलनशील
  43. घोड़े के रखे जाने की जगह – घुड़साल
  44. जो घृणा का पात्र हो – घृणित
  45. कोई कार्य करने के लिए नाजायज रूप में धन लेने वाला – घूसखोर
  46. जहां धरती और आकाश मिलते हुए दिखाई देते हैं – क्षितिज
  47. साँप के शरीर से निकली हुई खोली – केंचुली
  48. जो क्षमा किया जा सके – क्षम्य
  49. जिसका कुछ ही समय में नाश हो जाए – क्षणभंगुर
  50. जो क्षमा करने वाला हो – क्षमाशील

यह भी पढ़ें : विशेष्य किसे कहते हैं


  1. आकाश के पिंडों का विवेचन करने वाला शास्त्र – खगोलशास्त्र
  2. जिस ग्रहण में सूर्य या चंद्र का पूर्ण बिंब ग्रसित हो जाता है – खग्रास
  3. जो व्यक्ति अपने हाथ में तलवार लिए रहता है – खड्गहस्त
  4. दूसरों के मत का विरोध करना – खण्डन
  5. वह स्त्री जिसका पति अन्य स्त्री के साथ रात को रहकर प्रातः लौटे – खण्डिता
  6. खाने के योग्य वस्तु – खाद्य
  7. आकाश में विचरण करने वाले जंतु – नभचर
  8. शरीर का व्यापार करने वाली स्त्री – गणिका
  9. जो अशिष्ट व्यवहार करता हो – गँवार
  10. जो बहुत समय तक ठहर सके – चिरस्थायी
  11. चौथे दिन आने वाला बुखार – चौथिया
  12. चक्र के रूप में घूमती हुई चलने वाली हवा – चक्रवात
  13. आश्चर्य में डाल देने वाला कार्य – चमत्कार
  14. वह कृति जिसमें गद्य एवं पद्य दोनों मिश्रित हो – चम्पू
  15. जिसके सिर पर चन्द्रकला हो – चन्द्रचूड़
  16. लंबे समय तक जीवित रहने वाला – चिरञ्जीवी
  17. बहुत समय से परिचित – चिरपरिचित
  18. चिर निद्रा को प्राप्त हुआ – चिरनिद्रित
  19. चिंता करने योग्य बात – चिन्तनी
  20. सावधान करने के लिए दिया गया संकेत – चेतावनी
  21. सभी प्रकार की चिंताओं को दूर करने वाली एक मणि – चिन्तामणि
  22. जो गुप्त रूप से निवास कर रहा हो – छद्मवासी
  23. जहां सैनिक निवास करते हो – छावनी
  24. जो दूसरों में केवल दोषों को ही खोजता हो – छिद्रान्वेषी
  25. छिपकर आक्रमण करने वाला – छापामार दल
  26. पत्थर को गढ़ने वाला औज़ार – छैनी
  27. एक स्थान से दूसरे स्थान पर चलने वाला – जंगम
  28. जो जल बरसाता हो – जलद
  29. जो जल से उत्पन्न होता हो – जलज
  30. जो जीव जंतु जल में रहते हो – जलचर
  31. जो चमत्कारी क्रियाओं का प्रदर्शन करता है – जादूगर
  32. जो अकारण ज़ुल्म ढाका हो – ज़ालिम
  33. जिंदा रहने की इच्छा – जिजीविषा
  34. जिसने इन्द्रियों को वश में कर लिया हो – जितेन्द्रिय
  35. जिसने आत्मा को जीत लिया हो – जितात्मा
  36. जो जीतने के योग्य हो जेय जेठ का पुत्र – जेठोत
  37. अपनी इज़्ज़त को बचाने के लिए किया गया अग्नि प्रवेश – जौहर
  38. वह पहाड़ जिसके मुंह से आग निकले – ज्वालामुखी
  39. लंबे और बिखरे बालों वाला – झबरा
  40. बहुत गहरा तथा बहुत बड़ा प्राकृतिक जलाशय – झील
  41. जहां सिक्कों की ढलाई होती है – टकसाल
  42. अधिक देर तक रहने वाला या चलने वाला – टिकाऊ
  43. विवाह का संबंध तय करने के लिए वर को वस्त्र आदि वस्तुएं प्रदान करने की रस्म – टीका
  44. बर्तन बनाने वाला – ठठेरा
  45. जो छोटे कद का हो – ठिगना
  46. जनता को सूचना देने हेतु बजाया जाने वाला वाद्य – ढिंढ़ोरा
  47. जो किसी भी गुट में नहीं हो – तटस्थ
  48. जो किनारे से सटे हुए हो – तटवर्ती
  49. जो किसी कार्य या चिंतन में डूबा हुआ हो – तल्लीन
  50. जो चोरी-छिपे माल लाता और ले जाता हो – तस्कर

यह भी पढ़ें : प्रविशेषण किसे कहते हैं


  1. ऋषियों के तप करने की भूमि तपोभूमि उसी समय का – तत्कालीन
  2. वह राजकीय धन जो किसानों की सहायता हेतु दिया जाता है – तक़ाबी
  3. दैहिक, दैविक और भौतिक दुख – तापत्रय
  4. तर्क करने वाला व्यक्ति – तार्किक
  5. तांबे के रंग के समान लाल रंग – ताम्रपर्णी
  6. तैरने की इच्छा – तितीर्षा
  7. ज्ञान में प्रवेश का मार्गदर्शक – तीर्थङ्कर
  8. बाणों को रखने का पात्र – तुणीर
  9. किसी पद को छोड़ने के लिए लिखा गया पत्र – त्यागपत्र
  10. वह व्यक्ति जो छुटकारा दिलाता है – त्राता
  11. सत्व, रज और तम का समूह – त्रिगुण
  12. गंगा, यमुना और सरस्वती का संगम – त्रिवेणी
  13. भूत, वर्तमान और भविष्य को जानने वाला – त्रिकालज्ञ
  14. जिसके तीन आंखें हैं त्रिनेत्र तीन महीने में एक बार – त्रैमासिक
  15. वह स्थान जो दोनों भृकुटियों के बीच होता है – त्रिकुटी
  16. जो त्याग देने योग्य हो – त्याज्य
  17. संकुचित विचार रखने वाला – दक़ियानूस
  18. पति और पत्नी का जोड़ा दम्पति दस वर्षों का समय – दशक
  19. वह व्यक्ति जिसे गोद लिया जाए – दत्तक
  20. रानियों के साथ दहेज के रूप में भेजी गई सेविकाआएँ – दासी
  21. जंगल में फैलने वाली आग – दावाग्नि
  22. दो बार जन्म लेने वाला – द्विज
  23. जिसे कठिनाई से जाना जा सके – दुर्ज्ञेय
  24. जिस ने दीक्षा ली हो – दीक्षित
  25. पति के स्नेह से वंचित स्त्री – दुर्भगा
  26. जिसे कठिनाई से लाँघा जा सके – दुर्लंघ्य
  27. जिसे कठिनता से साधा जा सके – दु:साध्य
  28. जो कठिनाई से समझ में आता है – दूर्बोध
  29. जिसको कठिनाई से वहन किया जा सके – दुर्वह
  30. जो बुरा आचरण करता हो – दुराचारी
  31. बुरे भाव से की गई सन्धि – दुरभिसन्धि
  32. वह मार्ग जो चलने में कठिनाई पैदा करता हो – दुर्गम
  33. जिसमें ख़राब आदतें हो – दुर्व्यसनी
  34. जिस को जीतना बहुत कठिन हो – दुर्जेय
  35. दैव या ज्योतिष शास्त्र को जानने वाला – दैवज्ञ
  36. आगे की बात को भी सोच लेने वाला व्यक्ति – दूरदर्शी
  37. जिसे देवता भी पूछते हो – देवाराध्य
  38. दीक्षा की समाप्ति पर दिया जाने वाला उपदेश – दीक्षान्त भाषण
  39. पुत्री का पुत्र – दौहित्र
  40. पुत्री की पुत्री – दौहित्री
  41. वह कार्य जिसको करना कठिन हो – दुष्कर
  42. वह बच्चा जो अभी मां के दूध पर निर्भर है – दुधमुँहा
  43. जो दो अलग-अलग भाषियों के बीच अनुवाद करके बात करवाता हो – दुभाषिया
  44. जो शीघ्रता से चलता हो – द्रुतगामी
  45. जो धनुष को धारण करता हो – धनुर्धारी
  46. धन की इच्छा रखने वाला – धनेच्छु
  47. सभी को धारण करने वाली – धरणी
  48. यात्रियों के लिए निशुल्क सार्वजनिक आवास गृह – धर्मशाला
  49. गरीबों के लिए दान के रूप में दिया जाने वाला धन-अन्न आदि – धार्मादा
  50. किसी के पास रखी हुई दूसरे की वस्तु – धरोहर

यह भी पढ़ें: सर्वनाम – परिभाषा एवं भेद


  1. मछली मार कर आजीविका चलाने वाला – धीवर
  2. श्रेष्ठ गुणों से संपन्न शूरवीर नायक – धीरोध्दत्त
  3. शूरवीर किंतु क्रीड़ाप्रिय नायक – धीरललित
  4. धर्म के अनुसार व्यवहार करने वाला – धर्मात्मा
  5. जिसकी धर्म में निष्ठा हो – धर्मनिष्ठ
  6. आधारभूत कार्यों में प्रवीण – धुरन्धर
  7. जो धीरज रखता हो – धीर
  8. अपने स्थान पर अचल रहने वाला – ध्रुव
  9. ध्यान करने योग्य – ध्येय
  10. ध्यान करने वाला – ध्याता
  11. तांडव नृत्य की मुद्रा में शिव – नटराज
  12. नाक से अपने आप निकलने वाला ख़ून – नकसीर
  13. सम्मान में दी जाने वाली भेंट – नज़राना
  14. नाखून से चोटी तक का वर्णन – नखशिख वर्णन
  15. जिसका जन्म अभी-अभी हुआ हो – नवजात
  16. जिस स्त्री का विवाह अभी हुआ हो – नवोढ़ा
  17. जिसका उदय हाल में हुआ हो – नवोदित
  18. जो वस्तु नाशवान हो – नश्वर
  19. जिसका सिर झुका हुआ हो – नतमस्तक
  20. जो आकाश में विचरण करता है – नभचर
  21. जो नया नया आया है – नवागत
  22. जिसे ईश्वर पर विश्वास नहीं हो – नास्तिक
  23. जो पढ़ना-लिखना नहीं जानता हो – निरक्षर
  24. जिसको डर नहीं हो – निडर
  25. जिसका कोई अर्थ नहीं हो – निरर्थक
  26. जिसका कोई आकार नहीं हो – निराकार
  27. जिसका कोई आधार नहीं हो – निराधार
  28. जिससे किसी प्रकार की हानि नहीं हो – निरापद
  29. जो मांस नहीं खाता हो – निरामिष
  30. जिसकी कोई इच्छा नहीं हो – नि:स्पृह
  31. बिना भोजन के – निराहार
  32. जो उत्तर नहीं दे सके – निरुत्तर
  33. जिसमें दया नहीं हो – निर्दय
  34. जिसके पास धन नहीं हो – निर्धन
  35. जिसको भय नहीं हो – निर्भय
  36. जिसके कोई कलंक नहीं हो – निष्कलंक
  37. जिस काम के लिए धन नहीं दिया जाए – नि:शुल्क
  38. जिसका अपना कोई स्वार्थ नहीं हो – नि:स्वार्थ
  39. जिसके कोई संतान नहीं हो – निस्संतान
  40. जिसको किसी में भी आसक्ति नहीं हो – असंग
  41. व्यापारिक वस्तुओं को किसी दूसरे देश में भेजने का कार्य – निर्यात
  42. जिसको देश से निकाल दिया गया हो – निर्वासित
  43. रात में विचरण करने वाला – निशाचर
  44. बिना किसी बाधा के – निर्बाध
  45. जो ममत्व से रहित हो – निर्मम
  46. जिसकी किसी से तुलना नहीं की जा सके – निरुपम
  47. जो निर्णय करने वाला हो – निर्णायक
  48. जिसका कोई उद्देश्य नहीं हो – निरुद्देश
  49. जो पाप से रहित हो – निष्पाप
  50. जो सब प्रकार की चिंताओं से रहित हो – निश्चिंत

यह भी पढ़ें: संज्ञा (Sangya) – परिभाषा, भेद एवं उदाहरण


  1. जो नीति के अनुकूल हो – नैतिक
  2. आजीवन ब्रह्मचर्य का व्रत लेने वाला – नैष्ठिक
  3. जिसमें दया का भाव नहीं हो – निष्ठुर
  4. महीने के दो पक्षों में से एक पक्ष – पखवाड़ा
  5. अपनी किसी गलती के लिए हुआ दुख – पश्चाताप
  6. केवल अपने पति में अनुराग रखने वाले स्त्री – पतिव्रता
  7. पति को चुनने की इच्छा रखने वाली कन्या – पतिम्वरा
  8. उपाय बताने वाला – मार्गदर्शक
  9. अपने मार्ग से भटका हुआ – पथभ्रष्ट
  10. अपने पद से हटाया हुआ – पदच्युत
  11. केवल दूध पर जीवित रहने वाला – पयोहारी
  12. जो प्रत्यक्ष नहीं हो – परोक्ष
  13. दूसरों पर निर्भर रहने वाला पर – पराश्रित
  14. घूमने फिरने वाला साधु – परिव्राजक
  15. महीने के प्रत्येक पक्ष से संबंधित – पाक्षिक
  16. हाथ से लिखी हुई पुस्तक – पाण्डुलिपि
  17. जिसमें से आर-पार देखा जा सके – पारदर्शी
  18. जिसका स्वभाव पशु के समान हो – पाशविक
  19. जनप्रतिनिधियों द्वारा परिचालित शासन-व्यवस्था – जनतन्त्र
  20. किसी प्रश्न का तत्काल उत्तर दे सकने वाली बुद्धि – प्रत्युत्पन्न मति
  21. पर्दे के अंदर रहने वाली – पर्दानशीन
  22. किसी वाद का विरोध करने वाला – प्रतिवादी
  23. शरणागत की रक्षा करने वाला – प्रणतपाल
  24. वह ध्वनि जो कहीं से टकराकर आए – प्रतिध्वनि
  25. जो किसी मत को सर्वप्रथम चलाता है – प्रवर्तक

Vakyansh Ke Liye Ek Shabd के बारे में पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण MCQ

  • दिए गए Vakyansh Ke Liye Ek Shabd लिखिए जिसकी गहराई का पता ना मिल सके – अथाह
  • बिना पलक झपकाए Vakyansh Ke Liye Ek Shabd – अनिमेष
  • Vakyansh Ke Liye Ek Shabd लिखिए हिंसा करने वाला – हिंसक
  • निम्नलिखित Vakyansh Ke Liye Ek Shabd लिखिए प्राचीन काल से संबंधित? – पुरातन
  • Vakyansh Ke Liye Ek Shabd लिखिए जो बहुत बोलता हो? – वाचाल
  • इतिहास से संबंधित Vakyansh Ke Liye Ek Shabd चुने? – ऐतिहासिक
  • जिसका कोई अंग ठीक ना हो Vakyansh Ke Liye Ek Shabd क्या होगा? – अपंग
  • जो कभी ना मरे Vakyansh Ke Liye Ek Shabd? – अमर
  • वाक्यांश के लिए एक शब्द लिखो जिसमें दया हो? – दयावान

आज के इस लेख में हमने Vakyansh Ke Liye Ek Shabd के बारे में आपको बताया। यह लेख आपको कैसा लगा कॉमेंट करके ज़रुर बताईएगा। RPSC, Patwari और Police जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं में Vakyansh Ke Liye Ek Shabd से सम्बंधित सवाल पूछे जाते हैं.

धन्यवाद.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *